1. Home
  2. हिंदी
  3. Important
  4. Stories
  5. देश की 5 नामी गिरामी आईटी कम्पनियां इस वर्ष 96 हजार लोगों को नौकरी देंगी :  नैसकॉम
देश की 5 नामी गिरामी आईटी कम्पनियां इस वर्ष 96 हजार लोगों को नौकरी देंगी :  नैसकॉम

देश की 5 नामी गिरामी आईटी कम्पनियां इस वर्ष 96 हजार लोगों को नौकरी देंगी :  नैसकॉम

0

नई दिल्ली,18 जून। देश की नामी गिरामी पांच सॉफ्टवेयर कम्पनियां इस वर्ष 96 हजार से ज्यादा लोगों को नौकरी देने की योजना बना रही हैं। गैर लाभकारी उद्योग संघ नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज कम्पनीज (नैसकॉम) ने यह दावा किया है। नैसकॉम का यह बयान दो दिन पहले आई उस रिपोर्ट की प्रतिक्रिया में आया है, जिसमें कहा गया था कि ऑटोमेशन की वजह से शीर्ष आईटी कम्पनियां वर्ष 2022 तक 30 लाख नौकरियां खत्म कर देंगी।

बैंक ऑफ अमेरिका की रिपोर्ट में 30 लाख नौकरियां जाने की बात कही गई थी

गौरतलब है कि बैंक ऑफ अमेरिका की बीते बुधवार को जारी एक रिपोर्ट के कहा गया था कि भारत का घरेलू आईटी क्षेत्र करीब 1.6 करोड़ लोगों को रोजगार देता है, जिनमें से 90 लाख लोग कम कौशल वाली सेवाओं और बीपीओ सेवाओं में तैनात हैं। इन 90 लाख लोगों में से 30 प्रतिशत लोग या करीब 30 लाख लोग अपनी नौकरियां खो देंगे, जिसकी मुख्य वजह रोबोट प्रोसेस ऑटोमेशन (आरपीए) है। अकेले आरपीए करीब सात लाख कर्मचारियों की जगह ले लेगा और बाकी नौकरियां घरेलू आईटी कम्पनियों के दूसरे प्रौद्योगिकीय उन्नयन एवं कौशल में वृद्धि की वजह से जाएंगी।

बैंक ऑफ अमेरिका की रिपोर्ट के अनुसार टीसीएस, विप्रो, इंफोसिस, एचसीएल, टेक महिंद्रा, कोग्निजेंट और अन्य कम्पनियां आरपीए कौशल वृद्धि के चलते 2022 तक कम कौशल वाली भूमिकाओं में 30 लाख की कमी करने की योजना बनाते दिख रही हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि भारत में संसाधनों के लिए कर्मचारियों के वेतन पर सालाना 25,000 डॉलर और अमेरिकी संसाधनों के लिए 50,000 डॉलर के खर्च के आधार पर इससे कॉरपोरेट के लिए वार्षिक वेतनों तथा संबंधित खर्चों पर करीब 100 अरब डॉलर की बचत होगी।

ऑटोमेशन के साथ अन्य नौकरियों का सृजन होगा

फिलहाल नैसकॉम ने एक बयान में कहा, ‘टेक्नोलॉजी के इवैल्यूएशन और बढ़ते ऑटोमेशन के साथ, पारंपरिक आईटी नौकरियों और भूमिकाओं की प्रकृति समग्र रूप से विकसित होगी, जिससे नई नौकरियों का सृजन होगा।’

बीते वित्त वर्ष में 1.38 लोगों को मिला रोजगार

नैसकॉम के अनुसार आईटी क्षेत्र ने कुशल प्रतिभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा नियुक्ति की है और वित्त वर्ष 2021 में 1.38 लाख लोगों को रोजगार दिया है। अब पांच प्रमुख आईटी कम्पनियों ने वित्त वर्ष 2021-22 में 96 हजार से ज्यादा नियुक्तियों की मजबूत योजना भी तैयार की है।

आईटी उद्योग संगठन ने कहा कि, ‘इंडस्ट्री डिजिटल स्किल में 25 हजार से ज्यादा कर्मचारियो को अपस्किल कर रहा है और इसने 40 हजार से ज्यादा फ्रेश डिजिटली ट्रेंड टैलेंड को हायर किया है, जो कार्यबल क्षमताओं में तेजी से वृद्धि की दिशा में अपनी प्रतिबद्धता और निवेश को दर्शाता है।’

आईटी-बीपीएम क्षेत्र में बीते मार्च तक 45 लाख लोगों को रोजगार
नैसकॉम के अनुसार भारत में बिजनेस प्रोसेस मैनेजमेंट (बीपीएम) उद्योग 14 लाख से ज्यादा लोगों (घरेलू और इन-हाउस को छोड़कर) को रोजगार देता है, न कि 90 लाख, जैसा कि बैंक ऑफ अमेरिका के एक अध्ययन के हवाले से रिपोर्ट में बताया गया है। आईटी-बीपीएम क्षेत्र ने मार्च 2021 तक कुल मिलाकर 45 लाख लोगों को रोजगार दिया है।

LEAVE YOUR COMMENT